क्या TV मीडिया अब सुपारी मीडिया है?

क्या TV मीडिया अब सुपारी मीडिया है?

 ऐसा लगता है जैसे कि आज का मीडिया सुपारी मीडिया बन गया है। मीडिया का काम है सच को सामने रखना, मगर ऐसा लगता […]

Read more ›

क्या हैं नफरत की राजनीति और उसका परिणाम?

क्या हैं नफरत की राजनीति और उसका परिणाम?

हमारे देश में नफरत की राजनीति चरम पर है, नफरत की राजनीति का मकसद यह होता है कि लोगों को आपस में दो जगह बाँट […]

Read more ›

क्या आपने भरा है ‘दिल का बिल’? 😜

क्या आपने भरा है ‘दिल का बिल’? 😜

इश्क के फंडे का फायदा सबसे ज़्यादा मोबाईल फोन कंपनियों ने उठाया है। इधर इश्क के परवाने मोबाईल के ज़रिए रात दिन प्यार की पींगे […]

Read more ›

पत्रकारिता या चाटुकारिता?

पत्रकारिता या चाटुकारिता?

 क्या आज पत्रकारिता चाटुकारिता बनी हुई है? मशहूर पत्रकार और स्वतंत्रता सेनानी गणेश शंकर चतुर्वेदी कहा करते थे कि पत्रकारों को हमेशा सरकार के […]

Read more ›