टाइटलर ने कबूला 100 सिखों की हत्या का गुनाह?

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी द्वारा एक सनसनीखेज स्टिंग जारी किया गया है, उस वीडियो को सामने रखते हुए यह दावा किया गया कि कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर ने 1984 के सिख दंगों में हाथ होने की बात स्वीकार की है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के अध्यक्ष और शिरोमणी अकाली दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता मंजीत सिंह जीके ने मीडिया के सामने 5 विडियो क्लिप जारी किए, उनका कहना है कि इन विडियो में कथित तौर पर जगदीश टाइटलर 1984 में 100 सिखों का कत्ल करने की बात कह रहे हैं।

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के जनरल सेक्रटरी मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस कथित वीडियो में कबूलनामे के आधार पर केंद्र सरकार से जगदीश टाइटलर की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की है। मंजीत सिंह जीके के अनुसार 3 फरवरी 2018 को उन्हें एक लिफाफा मिला था, जिसमें पांच विडियो थे। इन वीडियो में जगदीश टाइटलर को कथित तौर पर 100 सिक्खों के कत्ल किए जाने की बात को कबूलते हुए दिखाया गया है।

मंजीत सिंह जीके ने कहा कि वह यह पेन ड्राइव सीबीआई के हवाले करेंगे और जल्द से जल्द जांच करके सच बाहर लाने की मांग करेंगे। उन्होंने बताया कि एक विडियो में टाइटलर अपने कुछ मित्रों से अपने 150 करोड़ रुपये नगद वापस न मिलने पर अफसोस जताते हुए दिखाई दे रहे हैं।

वर्ष 2011 की बताई जा रही इन क्लिप्स में जगदीश टाइटलर को कथित तौर पर यह कहते हुए दिखाया जा रहा है कि उन्हें कांग्रेस आलाकमान से राज्यसभा की सीट या मुख्यमंत्री पद का आश्वासन दिया है। इस सनसनीखेज स्टिंग के सामने आने के बाद दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने सरकार से न्याय की मांग की है। मंजीत सिंह जीके के मुताबिक गुरुद्वारा कमिटी ने इस विषय में सीबीआई, दिल्ली पुलिस, सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाई कोर्ट सहित सभी संबंधित जांच एजेंसियों को पत्र भेजा है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जगदीश टाइटलर का स्टिंग ऑपरेशन सामने आने के बाद दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने केंद्र सरकार को 24 घंटे का समय दिया है। गुरुद्वारा कमिटी के अधिकारियों ने कहा कि यदि 24 घंटे में जगदीश टाइटलर की गिरफ्तारी नहीं की जाती है तो कमिटी सड़क से संसद तक प्रदर्शन करेगी।

tikhibat.com इस ऑनलाइन विडियो की सत्यता की पुष्टि अथवा सत्य होने का क्लेम नहीं करता है।

Leave a Reply