स्टेशन पर युवती को जबरन किस करने लगा, आरपीएफ जवानों की सतर्कता से हुआ गिरफ्तार

  • घटना नवी मुंबई के तुर्भे रेलवे स्टेशन की है।
  • युवती को पीछे से आकर 43 वर्षीय व्यक्ति ने पीछे से जबरन किस और छेड़छाड़ की।
  • स्टेशन पर मौजूद लोग चुपचाप तमाशा देखते रहे।
  • किसी ने भी महिला की मदद करने और व्यक्ति को पकड़ने की कोशिश नहीं की।
  • आरपीएफ जवानों ने सीसीटीवी में घटना को देखा और तुरंत सक्रियता दिखाते हुए गिरफ्तार किया।

नवी मुंबई में एक महिला यात्री को जबरदस्ती किस करने का सनसनीखेज़ मामला सामने आया है, सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक वहां मौजूद किसी भी व्यक्ति ने महिला की मदद नहीं की और आरोपी वहां से आराम से फरार हो गया। नवी मुंबई के तुर्भे रेलवे स्टेशन पर उस समय ड्यूटी पर तैनात आरपीएफ की टीम ने सीसीटीवी कैमरे से फुटेज देखकर और तत्परता दिखाते हुए तुरंत आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। युवती उस समय घंसोली जाने के लिए लोकल ट्रेन का इंतजार कर रही थी जब 43 वर्षीय एक व्यक्ति ने पीछे से आकर उसे जबरन किस करने की कोशिश की।

इस घटना के सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई दे रहा है कि युवती ट्रेन का इंतजार करने के लिए प्लैटफॉर्म की ओर जा रही है तभी आरोपी ने पीछे से उसके नजदीक जाकर जबरन किस किया। अचानक हुई इस वारदात से सकते में आई युवती ने उसे धक्का देकर खुद को छुड़ाया, परन्तु हैरान करने वाली बात यह है कि स्टेशन पर मौजूद अन्य यात्रियों में से किसी भी व्यक्ति ने उस घटना पर रिएक्ट नहीं किया, महिला की मदद करने अथवा आरोपी को पकड़ने की कोशिश नहीं की। लोग चुपचाप बैठे रहे और इसी का फायदा उठाकर आरोपी वहां से भाग गया।

सकरात्मक बात यह रही कि आरपीएफ के जवानों की नज़र सीसीटीवी पर पड़ी और उनकी तत्परता के कारण आरोपी को गिरफ्तार किया जा सका। कॉन्स्टेबल पहले पीड़िता के पास गए उसके बाद उसके बताए गए रास्ते पर आरोपी का पीछा किया और उसे प्लैटफॉर्म नंबर 02/03 के पास सब-वे से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आरोपी की पहचान नरेश के जोशी के रूप में की है।

पुलिस के मुताबिक़ आरपीएफ ऑफिस की टीम के द्वारा की गई पूछताछ में आरोपी ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है और इसके बाद कानूनी कार्रवाई के लिए उसे वाशी जीआरपी के हवाले कर दिया गया है। वाशी जीआरपी के इंस्पेक्टर कृष्ण कदम के मुताबिक़ आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 ए (यौन उत्पीड़न) के तहत मामला दर्ज किया है और जांच की जा रही। इस पूरे मामले में आरपीएफ स्टाफ की सतर्कता और तुरंत कार्रवाई काबिले तारीफ रही और इसके लिए उन्हें चारो तरफ से सराहना मिल रही है।

Leave a Reply